Posts

सुलगती बर्फ़

अम्मा जी के भगीरथ

खड़ा मिलूंगा मार्ग में

बादल

ख़्वाहिश सूरज की

विदाई का सूर्य

यात्रा का सम्भाव्य

तुम

माँ

आत्मगीत

क्या पता

भोर की प्रतीक्षा

पुनर्जन्म

ये रात नहीं कटती

पतंगे का आत्म-समर्पण

फाटक

फिर मिलेंगे

मैं कोहिनूर हूँ

उस क्षण

रात की वेदना

अदला-बदली

चाँद तक सड़क

अग्नि-गर्भा

जीवन-मृत्यु

मेरे कमरे से

मुद्दतें तो हुई होंगी न

फीका फाल्गुन सूखा मन

अधूरी कविता

जा चुके थे तुम

निर्भय पथ

पेड़, पाषाण और मैं

कुछ कतरे समन्दर के

जलता है चाँद

तेरे बिन

कहाँ हूँ मैं

तुम्हारी खोज में

चलते-चलते

परिवर्तन

गणतन्त्र

अजनबी दुनिया

बसन्त

अंतर्यात्रा

अनंत की यात्रा पर